ContemporaryIndiaAndEducation

भारतीय संविधान : उद्देशिका, विशेषताएँ, नागरिकों के मूल अधिकार

भारतीय संविधान की उद्देशिका का विस्तार से वर्णन कीजिए।  भारतीय संविधान की उद्देशिका भारतीय संविधान की उद्देशिका में निम्नलिखित तथ्य सम्मिलित हैं-  (1) हम भारत के लोग, भारत को भारत के संविधान का निर्माण और अधिनियम भारत के लोगों ने अपने प्रतिनिधियों क…

Kkr Kishan Regar

वर्ण व्यवस्था | जाति व्यवस्था | दलित समुदाय | दलित चेतना | जनजातीय समुदाय | जाति व जनजाति | जनजातीय विकास | पिछड़े समुदाय का विकास

वर्ण व्यवस्था "वर्ण व्यवस्था" एक प्राचीन भारतीय समाज की जाति व्यवस्था को सूचित करने के लिए उपयोग किया जाने वाला शब्द है। इसे "चातुर्वर्ण्य" भी कहा जाता है, जिसे वेदों और पुराणों में उल्लिखित किया गया है। यह व्यवस्था भारतीय समाज क…

Kkr Kishan Regar

अंग्रेजी शासन की शिक्षा व्यवस्था

अंग्रेजी शासन की शिक्षा व्यवस्था पश्चिमी देशों से आने वाले अंग्रेजों का उद्देश्य व्यापारियों के रूप में आकर भारतीयों के ईसाई धर्म का प्रचार-प्रसर करना था, किन्तु शिक्षा के अभाव में इन सिद्धान्तों की ग्राह्यता एवं स्वीकृति बहुत कम थी। अत:…

Kkr Kishan Regar

दलित शिक्षा का विकास

1882 से स्वतन्त्रता प्राप्ति तक दलितों की शिक्षा के विकास  दलित शिक्षा के मुद्दे (स्वतन्त्रता प्राप्ति तक)   अंग्रेजों के शासन काल में 1882 से लेकर 1902 तक की अवधि में हरिजनों एवं पिछड़ी जातियों की शिक्षा में आशातीत वृद्धि हुई। भारतीय शि…

Kkr Kishan Regar
2

भारतीय शिक्षा आयोग 1882-83 || हण्टर कमीशन

भारतीय शिक्षा आयोग 1882-83 (हण्टर कमीशन) हण्टर कमीशन आयोग की नियुक्ति का कारण-1854 के घोषणा-पत्र के अनुसार आशाजनक प्रगति न हुई। प्राथमिक शिक्षा के लिए कुछ भी नहीं किया गया। माध्यमिक शिक्षा तथा उच्च शिक्षा के क्षेत्र में कुछ प्रगति अवश्य …

Kkr Kishan Regar
1

भारत में ईस्ट इण्डिया कम्पनी का विस्तार

भारत में ईस्ट इण्डिया कम्पनी का विस्तार भारत में ईस्ट इण्डिया कम्पनी का विस्तार आरम्भिक काल (1600-1650 ई. तक)      सर टॉमस रो 1619 ई. में अपने देश वापस लौट गया, इस समय तक सूरत, भड़ौच, आगरा एवं अहमदाबाद में अंग्रेजों का व्यापारिक कोठियाँ स्थापित हो च…

Kkr Kishan Regar

भारत में अंग्रेजों के पूर्व देशज शिक्षा व्यवस्था

भारत में  अंग्रेजों के पूर्व देशज शिक्षा व्यवस्था ग्रेजों के पूर्व देशज शिक्षा व्यवस्था पर प्रकाश डालिए। अंग्रेजों के पूर्व देशज शिक्षा व्यवस्था अलग तरह की थी। प्राचीन भारत में मुनियों एवं महर्षियों ने शिक्षा की समुचित व्यवस्था की थी। यह शिक्षा दो र…

Kkr Kishan Regar

राष्ट्रीय पाठ्यक्रम संरचना शिक्षक शिक्षा-2009 की आवश्यकता एवं महत्त्व

राष्ट्रीय पाठ्यक्रम संरचना शिक्षक शिक्षा-2009 की आवश्यकता एवं महत्त्व  Need and Importance of National Curriculum Framework Teacher Education 2009)—इसकी आवश्यकता एवं महत्त्व के कारकों का वर्णन निम्न प्रकार किया जा सकता है राष्ट्रीय पाठ्यक्रम संरचना …

Kkr Kishan Regar

वुड का घोषणा-पत्र 1854 : महत्त्वपूर्ण सिफारिशें, मूल्यांकन, गुण-दोष

वुड के घोषणा-पत्र 1854 की मुख्य सिफारिशों की व्याख्या "वुड का घोषणा-पत्र भारतीय शिक्षा के इतिहास में एक महाधिकार-पत्र के रूप में जाना जाता है। वुड का घोषणा-पत्र वुड का घोषणा-पत्र, 1854(Woods Despatch-1854)   कम्पनी शासन ने 20 वर्ष के बाद घोषणा …

Kkr Kishan Regar
ज़्यादा पोस्ट लोड करें
कोई परिणाम नहीं मिला